Sunday, August 19, 2012

ट्रांसप्लांट





कोर्डिनेटर ने कहा -
वो हमें फोन करेगी
हमें अपना फ़ोन
चालु रखना  है।

फ़ोन कब करेगी
वो नहीं जानती
लेकिन हमें फ़ोन 
पास में रखना है।

जैसे ही उन्हें हमारे
लिए लंग्ज मिलेंगे,
वे हमें फ़ोन करेंगे
हमें तैयार रहना है।

फ़ोन आने के बाद
खाना-पीना नहीं है
चार घंटे के अन्दर
अस्पताल पहुँचना है ।

हमें हर पल इन्तजार
रहता है उस फ़ोन का,
जैसे चातक को रहता है
बरसात की बूंद का ।

हम आये है पिट्सबर्ग
लंग्ज ट्रांसप्लांट करवाने
इन्तजार करना होगा
ट्रांसप्लांट करवाना होगा ।












No comments:

Post a Comment