Friday, February 12, 2016

जिंदगी को हँस कर जीना सीखो

जिंदगी को हँस कर जीना सीखो
दुःखियों को गले लगाना सीखो
यदि जीवन सुख से जीना है तो
जीवन को सत्कर्म में लगाना सीखो

मन प्रभु में समर्पित करना सीखो
परोपकार का जीवन जीना सीखो
यदि जीवन को सफल बनाना है तो
हर धर्म का आदर करना सीखो।

ईर्ष्या,द्वेष,घृणा को मिटाना सीखो
मन में करुणा भाव जगाना सीखो
यदि धरा को स्वर्ग बनाना है तो
आपस में मिल-झूल रहना सीखो

नदियों को स्वच्छ रखना सीखो
पेड़ों-वनस्पतियों को बचाना सीखो
यदि स्वस्थ-निरोग रहना है तो 
पर्यावरण को संरक्षण देना सीखो।  




No comments:

Post a Comment