Monday, March 7, 2016

सब बिछुड़ गए है

सिर्फ तुम्ही नहीं गई हो
मेरे जीवन से
बल्कि
दिल का चैन
मुस्कराते नयन
खिलखिलाती हँसी
दरवाजे की गाय
आँगन की चिड़िया
घर का आइना
रसोई की खुशबू
प्यार का संबोधन
भोर का सूरज
सब बिछुड़ गए है
मेरे जीवन से
तुम्हारे जाने के बाद।



No comments:

Post a Comment