Sunday, February 3, 2013

प्रेम पत्र





आओ एक बार
फिर से ताजा करे पुरानी यादों को
और लिखे प्रेम-पत्र एक दूजे को। 

खुशबू से भरे
प्रेम-पत्र में फिर से लिखे
प्यार की बाते एक दूजे को।

फिर से झूमे
तन-मन और खिल जाए
कलि-कलि पढ़ कर प्रेम-पत्र को। 

आँखों में चंचलता
होठो पर मुस्कान फिर से
लौट आये पढ़ कर प्रेम-पत्र को। 

बंद लिफाफा में
भेजे प्रेम पत्र गुलाब के
फूलो के साथ पहले की तरह।

करेंगे फिर इन्तजार
डाकिये का गली के मोड़ पर
पहले की तरह।

आओ फिर से
लिखे प्रेम-पत्र
एक दूजे के नाम।

एक बार फिर
लिखने बैठे
छोड़े दूजे काम।























No comments:

Post a Comment