Tuesday, May 14, 2013

मंत्री जी की दिक्षा


 
परम्परानुसार नया मंत्री शपथ
ग्रहण के बाद प्रधान मंत्री जी* से
आशीर्वाद लेने आता है।

प्रधान मंत्री जी उसे अर्थशास्त्र
का ज्ञान देते हुए जीवन में
अर्थ का महत्त्व बताते है।

कुर्सी आज तुम्हारे साथ है
कल नहीं भी रहे लेकिन अर्थ
जीवन में हर पल साथ देता है।

इसलिए कुर्सी रहते हुये
अर्थ का आदर करना सीखो
मौका बार-बार नहीं मिलता है।

मत्री अपने कार्यकाल में प्रधान
मंत्री जी की सलाह को तहे दिल
से पालन करता है।

कम से कम समय में
बड़े से बड़े घोटालो को अंजाम
देता हैऔर अर्थ की वेवस्था करता है।

एक-एक घोटाला अरबो में करता है
आठ-दस पीढ़ी तक का इंतजाम
एक बार में कर लेता है।

विपक्ष और न्यायालय के दबाव में
मंत्री को हटा कर नए मंत्री को
शपथ दिलाइ जाती है।

परम्परानुसार नया मंत्री शपथ ---------

*हमारे प्रधान मंत्रीजी एक अच्छे अर्थशास्त्री है ,यह कविता व्यगं मे लिखी गयी है।













No comments:

Post a Comment