Tuesday, December 27, 2011

खाद्य सुरक्षा बिल

चुहिया ने कहा -
खाद्य सुरक्षा बिल आ रहा है,
अब अन्न  गोदामों में
नहीं पड़ा रहेगा
सरकार अन्न  गरीबों में बांटेगी
और हमें  भूखो मरना  पडेगा।

चूहा बोला -
चिंता मत करो
ये राजनैतिक फैसला है
चुनाव के दिन करीब है
आम आदमी को
चारा डाला गया है।

ताकि मुफ्त के अनाज का लोभ 
आम आदमी के दिल में
दया का भाव पैदा कर सके
और सरकार कि सत्ता
बची रह सके।

हर बार चुनाव आने पर
आम आदमी को इसी तरह से
उल्लू  बनाया जाता है
और वो उल्लू बनता हुवा  भी
उफ़ तक नहीं करता है।

इस देश में
जब तक वोटों की गन्दी
राजनीति चलती रहेगी
हमारी दीवाली
ऐसे ही रहेगी  |


(यह कविता  "कुमकुम के छींटे" नामक पुस्तक में प्रकाशित है )


No comments:

Post a Comment