Saturday, January 26, 2013

कवि तुम लिखो

    भूख  से दम तोड़ रहे भुखे                                                                                                                        
गरीब  बच्चों के बारे में लिखो
                           दहेज़ के लालच में जलाई
                    जा रही दुल्हन के बारे में लिखो

देश की सीमा पर शहीद जवान के
बिलखते परिवार के बारे में लिखो
                    देश में हर रोज हो रहे घोटालों
                  और भ्रस्टाचार के बारे में लिखो

  झुग्गियों और फुटपाथों पर
सड़ रही जिंदगियों पर लिखो
                      औरतों पर हो रहे जुल्म और
                           बलात्कार के ऊपर लिखो

        बेटे के इन्तजार में आँखे
   बिछाए बाप के बारे में लिखो
                       किसी तलाकशुदा नारी की  
                      काली रातों के बारे में लिखो

    माँ की बुझी हुयी आशाओं
टूटे हुए दिल के बारे में लिखो
                      बिना इलाज के मरते किसी
                    गरीब के दर्द के बारे में लिखो

    कवि  कुछ ऐसा लिखो कि
मानव की मानवता जाग उठे
                   चौराहे पर खड़ा मूक दर्शक भी
                   अन्याय का प्रतिकार कर उठे।  

No comments:

Post a Comment