Wednesday, August 22, 2012

जुम्मन की स्त्री



आज का युग
विज्ञान और प्रोद्योगिकी में
बहुत आगे बढ़ गया है ।

अन्तरिक्ष में स्टेशन बन गए है
जहाँ वैज्ञानिक रिसर्च करते  हुए
अन्य ग्रहों पर जीवन  की खोज करते है ।

इंटरनेट और मोबाइल ने
दूर संचार के क्षेत्र में क्रांति ला दी
पूरी दुनिया को एक साथ जोड़ दिया है।

मंगल ग्रह पर रोकेट भेजा जा रहा है
कृत्रिम बादलो से बरसात की जा रही है
समुद्र की तलहटी से तेल निकाला जा रहा है।

द्रुतगामी वायुयान बन गए है
जिनसे कम समय में एक देश से
दुसरे देश आना जाना संभव हो गया है।

लेकिन इन सबसे जुम्मन की स्त्री को
कोई फर्क नहीं पड़ा, उसे तो रोज सड़क के किनारे
बैठ कर भरी दुपहरी में भी गिट्टी ही तोड़ना है।

और ठेकेदार की बुरी नजर से बचते हुए
अपने बच्चे को दूध पिलाने के बहाने
किसी पेड़ की छांव में सुख ढुंढना है।







No comments:

Post a Comment